Wednesday, 26 July 2017

JOINTS PAIN KE LIYE घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द

घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द



  • आयुर्वेदिक पट्टी है आपके हर दर्द का इलाज
  • इस पट्टी को अपनाएं जोड़ों के दर्द से मुक्ति पाएं
  • आयुर्वेद इलाज है दर्द का बेस्ट इलाज





आयुर्वेद एस ऐसा इलाज है, जो आपकी हर परेशानी और समस्या को जड़ से खत्म करने में मदद करता है। हम में से कई लोग अपने घरों में आयुर्वेद को फर्स्ट एड बॉक्स मानते हैं। इसमें हर उस बीमारी को खत्म करने की शक्ति होती है, जो शायद कोई और में नहीं। बुखार हो या खांसी-जुकाम, बदन दर्द हो या पेट की कोई खराबी या फिर कोई अन्य सामान्य समस्या, आपके घर का ये केमिस्ट आपको हर दवाई मुहैया करवाता है। 

कई लोगों को एलोपैथी दवाई चुस्त-दुरुस्त कर देती है, तो कई लोग इनसे मिलने वाली सुस्ती से परेशान हो जाते हैं। कभी-कभार एलोपैथी दवाइयां अपना असर दिखाने में नाकामयाब भी रहती हैं। और बीमार व्यक्ति को और परेशान करती है। 


सिर्फ 1 बार खाएं ये आयुर्वेदिक चीजें, पेट हमेशा रहेगा दुरुस्‍त


वे लोग जिन्हें एलोपैथी ज्यादा भाती नहीं है या उन्हें राहत देने में अक्षम पड़ जाती है, ऐसे में वे आयुर्वेद के पास कुछ ऐसे नुस्खे हैं, जो आपको बहुत ही जल्द बीमारियों से छुटकारा दिलवा सकते हैं। इनमें से कुछ ऐसे भी हैं जिनका नियमित सेवन आपको बीमार होने ही नहीं देगा। तो चलिए जानते हैं आयुर्वेद के खजाने से निकले कुछ खास नुस्खे।


जोड़ों का दर्द और तेल लगी कच्ची रोटी


आजकल की जीवनशैली में लोगों का खानपान पूरी तरह बिगड़ चुका है, जिसकी वजह से अकसर लोगों को तरह-तरह की शिकायतें रहने लगी हैं। स्ट्रेस, बाहर का अनहेल्दी खाना, जंक फूड आदि पेट की विभिन्न बीमारियों को पैदा करता है। 
लेकिन हम आपको आप आयुर्वेद के एक ऐसे नुस्खे से रू-ब-रू कराने जा रहे हैं, जिसको करने से आप अपने जोड़ों के दर्द से निजात पा सकते हैं। यह एक ऐसा घरेलू नुस्खा है, जहां, आप केवल एक ही रात में ज्वॉइंट्स पैन से छुटकारा दिलाने में कारगर है। 


ब्रेस्‍ट मिल्‍क को तुरंत बढ़ता है ये आयुर्वेदिक नुस्‍खा


रात में 1 कच्ची रोटी लें, उस पर सरसों का तेल और हींग लगा लें। इसके बाद ये रोटी की पट्टी अपने शरीर के उन हिस्सों पर रखकर बांधें, जहां आपको जोड़ों का दर्द महसूस होता है। यकीन मानिए आपका जोड़ों का दर्द केवल 1 रात में ही गायब हो जाएगा। इसके अलावा आप अगर पेपर टेप पर थोड़ी-सी साबुत मेथी दाना लगाते हैं और उसे उस जगह पर शरीर पर चिपकाते हैं जहां आपको दर्द महसूस हो रहा है, उससे भी आपको लाभ मिलेगा। 
रोटी का घरेलू नुस्खा एक ऐसा नुस्खा है, जो आपके जोड़ों के दर्द में आपको राहत दिला सकता है। अगर आपको भी घुटने में या हाथ में दर्द हो, तो आप भी यह नुस्खा अपना सकते हैं। आज भी बड़े-बूढ़ें इस नुस्खे को दर्द भगाने में इस्तेमाल करते हैं। एक बार आप भी करके देख लीजिए। 



Thursday, 20 July 2017

EK AAKHROT ROJ KHAYE AUR GUTNE DARD SE RAHAT PAYE सिर्फ 1 अखरोट खाएं, घुटने के दर्द को दूर भगाएं

सिर्फ 1 अखरोट खाएं, घुटने के दर्द को दूर भगाएं




  • अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी से होता है दर्द।
  • रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नहीं कर पाते हैं।
  • एंटीऑक्‍सीडेंट के साथ ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर।






बहुत सारे लोगों को घुटने के दर्द की समस्‍या का सामना करना पड़ता है। बढ़ती उम्र के साथ ये समस्‍या और भी गंभीर हो जाती है। अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान है और बहुत सारे इलाज करवाने के बावजूद आपको कोई आराम नहीं‍ मिल रहा है तो परेशान न हो, क्‍योंकि हम आपके लिए एक ऐसा नुस्‍खा लेकर आये जिसे इस्‍तेमाल करने से आपके घुटने का दर्द छूमंतर हो जाएगा।


अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी और बढ़ते वजन के चलते घुटनों का दर्द भारत जैसे देशों में एक बड़ी समस्या का रूप लेता जा रहा है। पहले यह समस्‍या 40-45 की उम्र में हुआ करती थी, लेकिन आज यह समस्‍या कम उम्र में भी होने लगी है। घुटनों का दर्द काफी हद तक लाइफ स्‍टाइल की देन है। भारत में यह समस्या काफी गंभीर है। घुटनों के खराबी के शिकार 25 प्रतिशत लोग अपने रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नहीं कर पाते हैं।    



घुटनों का दर्द बहुत ही पीड़ादायक होता है और यह आपको चलने-फिरने में भी असमर्थ कर देता है। अधिक वजन और वृद्धावस्था के कारण घुटनों का दर्द और भी तकलीफ देह हो जाता है। यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि अखरोट जैसे घरेलू उपाय की मदद से घुटनों के दर्द की इस तकलीफ से छुटकारा पाया जा सकता है। आइए जानें घुटने के दर्द के लिए अखरोट कैसे काम करता है। 


अखरोट के फायदों के बारे में हम सभी जानते हैं अखरोट हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। अखरोट में प्रोटीन, फैट, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ई, बी6, कैल्शियम और मिनरल पर्याप्तं मात्रा में होते है। जो हमारी फिटनेस बरकरार रखते है और हमें कई गंभीर बीमारियों से भी बचाता है। अखरोट में एंटीऑक्‍सीडेंट के साथ-साथ ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। यह एक प्रकार का फैट है जो सूजन को कम करने में मदद करता है। साथ ही अर्थराइटिस के विकास के जोखिम को कम करने में मदद करता है।



अखरोट का सेवन कैसे करें
रोजाना सुबह खाली पेट एक अखरोट की गिरी अच्‍छे से चबा-चबाकर खाएं।
अगर यह उपाय रोजाना नहीं करते तो आपको कुछ फायदा नहीं मिलेगा।
रोज खाने से थोड़े ही दिनों में आपको असर दिखने लगेगा।
अगर आप भी घुटने के दर्द से परेशान हैं तो आज से ही अपनी दिनचर्या में अखरोट को शामिल करें। 

Wednesday, 19 July 2017

JUNK FOODS KE NUKSAN ये 5 फूड देते हैं गंजेपन को न्‍यौता


ये 5 फूड देते हैं गंजेपन को न्‍यौता


हमारे खान-पान के लिए तमाम चीजें बनी हैं, इनमें से कुछ फायदेमंद होती है तो वहीं कुछ के हानिकारक परिणाम मिलते हैं। कुछ फूड ऐसे होते हैं जिन्‍हें खाने का केवल स्‍वाद ही मिलता है जबकि उनमें पोषक पदार्थ काफी कम होते हैं। ऐसे फूड को ज्‍यादा खाने से ब्लड में बायोटिन की कमी होने लगती है और बालों की जड़ों में ब्लड सर्कुलेशन कम हो जाता है। इस कारण बालों का झड़ना शुरू हो जाता है और जब बाल अधिक झड़ जाते हैं तो व्‍यक्ति गंजेपन का शिकार हो जाता है। गंजेपन से मुक्‍त रहें इसलिए हम आपको 5 ऐसे फूड के बारे में बताने जा रहें है जिनका सेवन ज्‍यादा न करें...


जंक फूड

इसमें साल्‍ट, शुगर, ऑयल और फैट की मात्रा ज्‍यादा होती ह। इनसे सिर की स्किन के पोर्स बंद हो जाते हैं और बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। 




फ्रेंच फाइज

इसमें ज्‍यादा मात्रा में ऑयल और ट्रांस फैट्स होते हैं जो बालों को जड़ों तक पोषक तत्‍व नही पहुंचने देते हैं, इससे बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं।







केक एंड पेस्‍ट्री

इसमें शुगर लेवल अधिक होता है, जिससे हेयर फॉल को बढ़ाने वाले एंड्रोजन हार्मोन का लेवल बढ़ाता है।






Monday, 17 July 2017

जरूर जानिए किन-किन आदतों से आयुष्य नष्ट होती है

जरूर जानिए किन-किन आदतों से आयुष्य नष्ट होती है




  • जो मनमाना खान पान करते हैं अपनी आयुष्य क्षीण करता है … और संयम से खान पान रखता है तो लंबी आयुष्य हो जाती है |
  • अति अभिमान
  • जो अति बोलना, चलते-चलते बोलना, व्यर्थ बोलता है उसकी बुद्धि और आयुष्य क्षीण हो जाते हैं।
  • जो क्रोधी है।



  • जो अति खाता है, रात को देरी से खाता है।
  • जो ह्रदय में किसी के लिए द्रोह ठान के रखता है, वैर ठान के रखता है वो भी अपनी आयुष्य क्षीण करता है।
  • पर जो मौन रहता है, कम बोलता है , श्वासोश्वास में भगवान का नाम स्मरण करता है वो अपना मन पवित्र करता है, बुद्धि पवित्र करता है और आयुष्य लंबी करता है।


Sunday, 16 July 2017

TAMBE KE BARTAN ME RAKHI CHEEZE HO SAKTI HAI KHATARNAK सावधान ....!तांबे के बर्तन में रखी कुछ चीजें हो सकती ~ स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

सावधान ....!तांबे के बर्तन में रखी कुछ चीजें हो सकती ~ स्वास्थ्य के लिए हानिकारक



यूं तो तांबे के बर्तन काफी शुभ माने जाते हैं और इसमें रखा पानी भी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है!लेकिन तांबे के बर्तन में रखी कुछ चीजें जहर भी बन सकती हैं !










* यह चीजें ~ तांबे के बर्तन में रखने पर - हो सकती हैं बेहद खतरनाक !


* दही :-दही को तांबे के बर्तन में रखना और उसका सेवन करना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है !इससे फूड पॉइजनिंग हो सकती है और कसैला स्वाद - घबराहट या जी मचलाने जैसी समस्याएं हो सकती है !

* नींबू :-नींबू का रस - नींबू पानी या फिर नींबू को किसी भी रूप में अगर तांबे के बर्तन में रखते हैं तो इसमें मौजूद एसिड तांबे के साथ क्रिया करता है - जो सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है !


* सिरका :-सिरका एक प्रकार का अम्लीय पदार्थ है - इसे तांबे के बर्तन में या उसके साथ रखते हैं तो उनके मेल से होने वाली रासायनिक क्रिया सेहत पर बेहद हानिकारक प्रभाव डाल सकता है !

* अचार :-अचार में भी सिरके का प्रयोग किया जाता है अत: इसका प्रयोग तांबे के बर्तन में कभी न करें ~
इसके अलावा भी अचार में मौजूद खटाई तांबे के साथ मिलकर सेहत के लिए जहर का काम करती है !


* छाछ :-छाछ का प्रयोग सेहत के लिए फायदेमंद है ~ लेकिन इसका प्रयोग कभी भी तांबे के बर्तन में न करें !

Saturday, 15 July 2017

Underarms Sweat Problem Resolution अंडर आर्म के पसीने को रोकने के लिये प्राकृतिक नुस्खे

अंडर आर्म के पसीने को रोकने के लिये प्राकृतिक नुस्खे





वैसे तो पसीना निकलना आम बात व जरूरी है लेकिन हद से ज्यादा अगर पसीना निकलता है तो आपके लिये इसे काबू करना मुश्किल हो सकता है !कुछ आसान से घरेलू उपचार अपना - बहुत हद तक अंडरऑर्म के पसीने को कंट्रोल कर सकते हैं !उदाहरण के तौर पर अगर आप सेब का सिरका नियमित रूप से लगाने लगेगें तो बगल से कम पसीना निकलेगा - यह त्वचा के रोम छिद्र को बंद कर के बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है !




* सेब का सिरका :-नहाने से पहले सेब के सिरके को अपने बगल में 30 मिनट के लिये रोजाना लगाएं - फिर हल्के साबुन से धो लें !अच्छा रिजल्ट पाने के लिये इसे रात को सोने से पहले लगा लें !

* बेकिंग सोडा :-बेकिंग सोडा और पानी मिला पेस्ट बना बगल में लगा लें और 30 मिनट के बाद इसे ठंडे पानी से धो लें !कुछ दिनों तक लगाने से आपकी स्किन ड्रार्इ रहने लगेगी !

* कार्नस्टार्च :-आर्मपिट पर टैल्कम पाउडर की जगह पर कार्नस्टार्च लगाएं !यह बगल की नमी को सोख लेगा और पसीने की बदबू को दूर रखेगा !




* नींबू :-नींबू से आप कर्इ गुना बगल के पसीने को दूर रखने में कामियाब हो सकते हैं !इससे आप अपने काले पड़ चुके आर्मपिट का रंग भी निखार सकते हैं !

* हमेशा लाइट काॅटन पहने :-आप जो कपड़ा पहनते हैं - कभी कभी वह भी आपको पसीना दे सकता है !इसलिये हमेशा कोशिश करें कि लाइट फैबरिक जैसे काटन आदि ही पहने !यह नमी को तुरंत ही सोख लेता है !



* मसालेदार खाने से बचें :-अगर आपको ज्यादा पसीना आता है तो मसालेदार खाना ना खाएं !लाल मिर्च और शिमला मिर्च डाले खाने को ना खाएं !

Friday, 14 July 2017

NEEND PURI NA KARNE KARNE KA NUSKAN 6 घंटे से कम नींद कैसे आपके लिए है खतरनाक, जानें


6 घंटे से कम नींद कैसे आपके लिए है खतरनाक, जानें



  • 6 घटे से कम सोना है खतरनाक।
  • नींद पूरी करना बहुत जरूरी है। 
  • अनिद्रा की शिकायत। 









जो लोग देर रात तक जागते हैं यानी पूरी नींद नही ले पाते हैं उनके लिए बहुत ही खतरनाक खबर है। एक रिसर्च के मुताबिक, 6 घंटे से कम की नींद मेटाबॉलिक सिंड्रोम से पीड़ित लोगों में मौत के जोखिम को दोगुना कर सकती है।


दिमाग के लिए क्या है जरूरी, कॉफी या बीयर?



बता दें कि मेटाबोलिक सिंड्रोम डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और मोटापे का मिला जुला रूप है। इस रिसर्च को 'अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन' मैग्जीन में पब्लिश किया गया। रिसर्च के मुताबिक, मेटाबॉलिक सिंड्रोम से पीड़ित लोग अगर 6 घंटे से अधिक की नींद लेते हैं, तो उन्हें स्ट्रोक के कारण मौत का जोखिम करीब 1.49 गुना अधिक होता है. इसके उलट 6 घंटे से कम सोने वालों को हृदय रोग से मौत का जोखिम 2.1 फीसदी अधिक होता है।



वैज्ञानिकों ने बताया कि मेटाबॉलिक सिंड्रोम से पीड़ित कम नींद लेने वालों को बगैर मेटाबॉलिक सिंड्रोम से पीड़ित लोगों की तुलना में किसी भी कारण से 1.99 फीसदी अधिक मौत का जोखिम होता है। यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया से असिस्टेंट प्रोफेसर जूलियो फर्नांडीस-मेंडोजा के मुताबिक, अगर आप हृदय रोग के जोखिम से गुजर रहे हैं तो अपनी नींद का ध्यान रखें और अगर आप नींद की कमी से ग्रस्त हैं तो इस जोखिम से बचने के लिए डॉक्टर्स से राय लें।

Thursday, 13 July 2017

AANKH FADKNE KE KARAN आंख फड़कने के लिए जिम्मेदार हैं सेहत के यह कारण

आंख फड़कने के लिए जिम्मेदार हैं ~ सेहत के यह कारण



अगर आंख फड़कने का मतलब आपको भी यही लगता है कि यह किसी शुभ या अशुभ बात की निशानी है ~ तो आप गलत हो सकते हैं !

जी हां ~ आंख फड़कने का कारण आपकी सेहत भी हो सकती है!




सेहत के यह कारण - जो आंख फड़कने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं !तो अब अगर आपकी आंख फड़क रही हो
~ तो इन कारणों पर भी एक बार जरूर विचार करें !



* आंखों की समस्या :- आंखों में मांस पेशियों से संबंधित समस्या होने पर भी आंख फड़क सकती है !अगर लंबे समय से आंख फड़क रही है - तो एक बार आंखों की जांच जरूर करवा लें !हो सकता है आपको चश्मा लगाने की जरूरत हो या आपके चश्मे का नंबर बदलने वाला हो !

* तनाव :- तनाव के कारण भी आपकी आंख फड़क सकती है !खास तौर से जब तनाव के कारण आप चैन से सो नहीं पाते और आपकी नींद पूरी नहीं होती - तब आंख फड़कने की समस्या हो सकती है !


* थकान :- अत्यधिक थकान होने पर आंखों में भी समस्याएं होती हैं !इसके अलावा आंखों में थकान या कम्यूटर - लैपटॉप पर ज्यादा देर काम करते रहने से भी यह समस्या हो सकती है - इसके लिए आंखों को आराम देना जरूरी है !

* पोषण :- शरीर में मैग्नीशियम की कमी होने पर आंख फड़कने की समस्या पैदा सकती है !इसके अलवा अत्यधिक कैफीन का शराब का सेवन भी इस समस्या को जन्म देता है !


* सूखापन :- आंखों में सूखापन होने पर भी आंख फड़कने की समस्या होती है !आंखों में एलर्जी - पानी आना - खुजली आदि समस्या होने पर भी ऐसा हो सकता है !

COCONUT OIL BENEFITS मक्खन और पशु फैट जितना ही अस्वास्थ्यकर है नारियल तेल

मक्खन और पशु फैट जितना ही अस्वास्थ्यकर है नारियल तेल



विशेषज्ञों ने कहा है कि आम तौर पर स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाने वाला नारियल तेल उतना ही अस्वास्थ्यकर है जितना कि मक्खन और पशु वसा. पशु वसा को आम तौर पर स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता, जबकि जैतून और सूरजमुखी जैसे वनस्पति तेल स्वास्थ्य के लिए अच्छे विकल्प माने जाते हैं.


कुछ विशेषज्ञों का दावा है कि नारियल तेल अन्य संतृप्त वसा से बेहतर हो सकता है. हालांकि, अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार इस दावे का समर्थन करने के लिए कोई विश्वसनीय अध्ययन नहीं है.


संतृप्त वसा की अधिकता वाला आहार खाने से रक्त में लो डेंसिटी लाइपोप्रोटीन (एलडीएल) या बुरे कॉलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है. इससे धमनियां अवरद्ध हो सकती हैं या हृदय संबंधी रोगों और स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है. एएचए के अनुसार नारियल तेल में वसा का 82 प्रतिशत हिस्सा संतृप्त होता है. यह मात्रा मक्खन (63 प्रतिशत), बीफ (50 प्रतिशत) और सूअर वसा (39 प्रतिशत) से अधिक है. अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन ने एक परामर्श में कहा है कि लोगों को संतृप्त वसा के सेवन की मात्रा सीमित करनी चाहिए और इसकी जगह जैतून तथा सूरजमुखी जैसे गैर संतृप्त तेल का सेवन करना चाहिए.

AANAR KI PATIYO KE FAYIDE अनार की पत्त्यिों से पाएं खूबसूरत और निखरी त्वचा

अनार की पत्त्यिों से पाएं खूबसूरत और निखरी त्वचा



अनार एक ऐसा फल है जो हमें कई तरह के लाभ पहुंचाता है।

अनार के फायदे


अनार एक ऐसा फल है जो हमें कई तरह के लाभ पहुंचाता है। स्वास्थ्य के लिए गुणकारी होने के साथ ही अनार हमारी त्वचा के लिए रामबाण है। अनार के नियमित सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होने के साथ ही त्वचा संबंधित कई समस्याएं भी दूर होती हैं। अनार में पाए जाने वाले गुण त्वचा में निखार लाते हैं। इसमें ग्रीन टी और संतरे की तुलना में तीन गुना एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। जो सीधा प्रत्यक्ष तौर पर स्किन को फायदा करते हैं।




क्यों फायदेमंद है पत्तियां




एक नई रिसर्च में साफ हुआ है कि केवल अनार ही नई बल्कि उसकी पत्त्यिां से भी हमें कई तरह के फायदे मिलते हैं। अनार की पत्त्यिों का पेस्ट लगाने से त्वचा हेल्दी रहने के साथ ही तमाम तरह के रोग भी दूर होते हैं। आइए जानते हैं अनार की पत्त्यिां हमें त्वचा संबंधी किस तरह फायदे पहुंचाती हैं।





झुर्रियों को करती हैं खत्म


आजकल दूषित और अनियमित खानपान के चलते लोगों को कई तरह की त्वचा संबंधी परेशानी हो रही है। जिन लोगों को उम्र से पहले ही एंटी एजिंग की समस्या हो जाती है या फिर जो लोग झुर्रियों के चलते अपनी उम्र नहीं छिपा पाते हैं उनके लिए अनार की पत्त्यिों का पेस्ट बहुत फायदेमंद है। इसे नियमित लगाने से झुर्रियां खत्म होती हैं।



मुंहासे से दिलाता है निजात

अगर आप मुंहासों की समस्या से परेशान है तो अनार के पत्तों का पेस्ट आपके लिए बेस्ट हैं। इसके अलावा अनार के दानों को पीसकर भी मुंहासों पर लगाया जा सकता है और अनार का जूस पीकर भी मुंहासों से छुटकारा पाया जा सकता है।





कोशिकाओं को करता है दुरुस्त



अनार त्वचा की कोशिकाओं को जवान रखने में मददगार है। अनार का तेल त्वचा को पौष्टिकता प्रदान करके चेहरे पर चमक लाता है। अगर आप चाहे तो अनार के पत्तों को चबा भी सकते हैं। इससे पत्ते अंदर से कोशिकाओं को दुरुस्त करने का काम करते हैं।

JOINTS PAIN KE LIYE घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द

घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द आयुर्वेदिक पट्टी है आपके हर दर्द का इलाज इस पट्...