Saturday, 19 August 2017

Adarak Ke Benefits कई बीमारियों की दवा है अदरक

कई बीमारियों की दवा है अदरक



  • आयरन, कैल्शियम, क्लो‍रीन व विटामिन से भरपूर।
  • अदरक का रस पीने से दिल सम्बंधित बीमारियां नहीं होतीं।
  • कोलेस्ट्रोल को कंट्रोल कर रक्‍त-संचार को ठीक रखता है।
  • पेट में दद्र, सर्दी-जुकाम, उल्‍टी, खांसी, अपच में फायदेमंद।



अदरक को आयुर्वेदिक महा-औषधि के रूप में जाना जाता है। कई वैज्ञानिक शोध इस बात की पुष्टि भी करते हैं। अदरक में शरीर के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ताजा अदरक में 81% पानी, 2.5% प्रोटीन, 1% वसा, 2.5% रेशे और 13% कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। इस लेख को पढ़ कर जाने अदरक के फायदों के बारे में।

अदरक में आयरन, कैल्शियम, आयोडीन, क्लो‍रीन व विटामिन सहित कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। अदरक को ताजा और सूखा दोनों प्रकार से प्रयोग किया जा सकता है। अदरक एक मजबूत एंटीवायरल भी है। आइए हम आपको अदरक के फायदे के बारे में बताते हैं।

अदरक खाने के फायदे

त्वचा के लिए

अदरक का सेवन करने से त्वचा आकर्षित और चमकदार होती है। सुबह-सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी के साथ अदरक का टुकडा खाइए। इससे आपकी त्वचा में निखार आएगा और आप जवां दिखेंगे।

खांसी के लिए

खांसी में अदरक बहुत फायदेमंद होता है। खांसी आने पर अदरक के छोटे टुकडे को बराबर मात्रा में शहद के साथ गर्म करके दिन में दो बार सेवन कीजिए। इससे खांसी आना बंद हो जाएगा और गले की खराश भी समाप्त होगी।

भूख की कमी के लिए

अगर भूख लगने में दिक्कत हो रही हो तो अदरक का नियमित सेवन करने से भूख न लगने की समस्या का निजात मिल जाएगा। अदरक को बारीक काटकर, थोडा सा नमक लगाकर दिन में एक बार लगातार आठ दिन तक खाइए। इससे पेट साफ होगा और ज्यादा भूख लगेगी।

हाजमे के लिए

पेट और कब्ज की समस्या के लिए अदरक बहुत फायदेमंद है। अदरक को अजवाइन और नींबू के रस के साथ थोडा सा नमक मिलाकर खाइए। इससे पेट का दर्द ठीक होगा और खट्टी-मीठी डकार आना बंद हो जाएगी।

उल्टी के लिए

अगर बार-बार उल्टी आ रही हो तो अदरक को प्याज के रस के साथ दो चम्मच पिला दीजिए। इससे उल्टी आना बंद हो जाएगी।

सर्दी और जुकाम

सर्दी और जुकाम में अदरक बहुत फायदेमंद है। सर्दी होने पर अदरक की चाय पीने से फायदा होता है। इसके अलावा अदरक के रस को शहद में मिलाकर गर्म करके पीने से फायदा होता है।

कैंसर के लिए

अदरक में कोलेस्ट्राल का स्तर कम करने, खून का थक्का जमने से रोकने, एंटी फंगल और कैंसर के प्रति प्रतिरोधी होने के गुण भी पाए जाते हैं।

अन्य बीमारियां

अदरक को दवा के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। अदरक का सेवन करने से गठिया, अर्थराइटिस, साइटिका, गर्दन और रीढ की हड्डियों के रोग (सर्वाइकल स्पांसडिलाइटिस) के इलाज में किया जा सकता है। अदरक महिलाओं में मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करने में भी मददगार होता है।


अदरक के अन्य फायदे

अदरक खाने से मुंह के हानिकारक बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं।
अदरक का कोलेस्ट्रोल को भी कंट्रोल करता है जिसके कारण ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है।
अदरक का प्रयोग करने से शरीर में खून के थक्के नहीं जमते।
अदरक का रस और पानी बराबर मात्रा में पीने से दिल सम्बंधित बीमारियां नहीं होतीं।

अदरक की तासीर गर्म होती है। गर्मी के मौसम में अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए और यदि आवश्यकता हो तो कम से कम मात्रा में प्रयोग करना चाहिए।

Sunday, 13 August 2017

Gathiya Se Chutkara गठिया से छुटकारा दिलाने में मददगार है खाने की ये 1 चीज


गठिया से छुटकारा दिलाने में मददगार है खाने की ये 1 चीज






  • जोड़ों के दर्द के लिए खाएं ये 1 चीज
  • टमाटर खाएं गठिया की समस्या से छुटकारा पाएं
  • विटामिन-सी से भरपूर है टमाटर



भारतीय व्यंजन बिना टमाटर के बने तो स्वाद में अजीब से लगते हैं। टमाटर एक ऐसी सब्जी है, जो शायद हर सब्जी और दाल में डाली जाती है। टमाटर वैसे तो हमारे स्वास्थ्य के लिए एक रामबाण साबित है, लेकिन आपको बता दें कि अगर आप अपनी डाइट में टमाटर कगा सेवन रोज करते हैं, तो इससे गठिया की समस्या से भी छुटकारा पाया जा सकता है।


टमाटर का प्रयोग आप सब्जी और दाल के अलावा सलाद, सूप व चटनी बनाने के रूप में भी कर सकते हैं। टमाटर में भरपूर मात्रा में विटामिन-सी, लाइकोपीन, पोटैशियम पाया जाता है। इसके अलावा इसमें कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले कुछ महत्वपूर्ण तत्व भी होते हैं। जिन लोगों को वजन कम करना होता है, वे अपनी डाइट में टमाटर का सेवन भरपूर मात्रा में कर सकते हैं। टमाटर की सबसे बड़ी खासियत ये होती है कि टमाटर को अगर आप आंच पर पकाते हैं, तब भी उसके पोषक तत्व बने रहते हैं।



टमाटर खाएं गठिया की समस्या को दूर भगाएं
वैसे तो आप टमाटर का इस्तेमाल कई बीमारियों की रोकथाम के लिए कर सकते हैं, लेकिन सबसे अच्छा ये गठिया की समस्या के लिए माना जाता है। सुबह-सुबह बिना पानी पिए अगर आप पका हुआ टमाटर खाते हैं, तो उससे भी आपको कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे मिल सकते हैं। अगर आपके बच्चे को किसी तरह का सूखा रोग है, तो उसे रोज एक गिलास टमाटर का जूस पिलाएं।

हीं, अगर किसी व्यक्ति को गठिया के रोग की समस्या है, तो उसके लिए भी टमाटर काफी फायदेमंद माना जाता है। रोज टमाटर के जूस में अजवायन मिलाकर खाने से गठिया के दर्द में आराम मिलता है। अगर आपको भी गठिया जैसे रोग की समस्या है, तो आप भी टमाटर का सेवन कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे आपको एक बार विशेषज्ञ से सलाह जरूर लेनी है। टमाटर हालांकि आपको किसी भी तरह के स्वास्थ्य संबंधी नुकसान नहीं देगा, इसलिए टमाटर को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

Running Se Bhi Haddiya Majbut Hoti Hai केवल व्यायाम ही नहीं दौड़ने से भी मजबूत होती हैं हड्डियां

केवल व्यायाम ही नहीं दौड़ने से भी मजबूत होती हैं हड्डियां



1- थकान कम होती है

खिलाड़ियों के कमरे में अगर पुदीने की खुशबू फैला दी जाए, तो उनकी थकान कम हो जाती है, दिमाग फ्रेश फील करता है, स्ट्रेस कम होता है और परफॉर्मेंस तेज़ होती है। नर्वस डिसऑर्डर के ट्रीटमेंट में भी पेपरमिंट कारगर है।
2- फोकस और एकाग्रता में वृद्धि

एक स्टडी के मुताबिक कुछ लोगों पर जब पुदीने की महक का टेस्ट किया गया, तो इसके बाद पार्टिसिपेंट्स की परफॉर्मेंस पहले से बहुत अच्छी हो गई, वो ज़्यादा तेज़ भागने लगे, ज़्यादा-से-ज़्यादा पुश-अप्स करने लगे और फिजिकल स्ट्रेंथ में भी बढ़ोत्तरी हुई।


3- मांसपेशियों में दर्द और गठिया दर्द से राहत

पेपरमिंट ऑयल से दर्द में आराम मिलता है। इसकी कुछ बूंदे बाथ टब में डालने से, पार्टिसिपेंट्स को सिरदर्द से राहत मिली और मांसपेशियों का दर्द भी कम हुआ।


4- रेस्पेरेटरी फंक्शन में सुधार

वैज्ञानिकों ने जब एथलीट्स की पानी की बोतल में एक बूंद पुदीने के तेल की डाली, तो इसका रिज़ल्ट देखने लायक था। इससे उनकी रेस्पेरेटरी प्रॉब्लम्स कम हुईं। कई पार्टिसिपेंट्स की छाती पर जब पेपरमिंट ऑयल लगाया गया, तो इसकी खुशबू से उनकी सांस से जुड़ी दिक्कतें भी कम होने लगीं।

Saturday, 12 August 2017

Pudine Ke Patte Ke Fayide पुदीने से तेज़ होती है खिलाड़ियों की परफॉर्मेंस, ये हैं इसके कई फायदे


पुदीने से तेज़ होती है खिलाड़ियों की परफॉर्मेंस, ये हैं इसके कई फायदे






  • पेपरमिंट ऑयल से दूर होती है खिलाड़ियों की थकान
  • मांसपेशियों के दर्द का इलाज छिपा है पुदीने में
  • मेमोरी तेज़ करने में कारगर है पेपरमिंट





पेपरमिंट यानी पुदीना के बिना रसोई अधूरी है। इससे न सिर्फ सब्ज़ी का ज़ायका बदल जाता है, बल्कि इसकी महक भी सब्ज़ियों में जान डाल देती है। बदहज़मी, उल्टी जैसा लगना, मुंह से दुर्गंध आना, पेट में गैस, रूखे बाल आदि जैसी समस्याओं को दूर करने में पेपरमिंट कारगर है। रिसर्च के मुताबिक पुदीना एथलेटिक्स की परफॉर्मेंस भी इम्प्रूव कर सकता है। स्ट्रेस के दौरान पुदीने की महक काफी लाभदायक होती है। इससे सांस लेने में आसानी होती है और मेंटल परफॉर्मेंस भी बढ़ती है। खिलाड़ी पहले से ज़्यादा एनर्जेटिक महसूस करते हैं। खिलाड़ियों की परफॉर्मेंस पर पेपरमिंट के फायदे जानने के लिए कई स्टडीज़ और रिसर्च हुई हैं। आखिर, इनका रिज़ल्ट क्या आया है, इन 4 फायदों से जानें।





Friday, 11 August 2017

Jal Jeera Benefits जल जीरा पीने के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

जल जीरा पीने के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ



● जल जीरा एक बड़ा ही चटपटा और स्‍वादिष्‍ट पेय पदार्थ है, जो गर्मियों में पिया जाता है। क्‍या आप जानते हैं कि प्‍यास बुझाने वाला और स्‍वाद के लिये पिया जाने वाला जल जीरा स्‍वास्‍थ्‍य के लिये कितना फायदेमंद होता है। जल जीरा वजन कम, पेट ठीक रखने और शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के काम आता है।
● गर्मियों में जब तापमान बढ़ जाता है तब जल जीरा जरुर पीना चाहिये क्‍योंकि यह शरीर की गर्मी को कम करता है तथा पाचन तंत्र को दुरुस्‍त रखता है। देसी ठंडा जो भगाए गर्मी और बनाए स्‍वस्‍थ इसी बात पर आइये जानते हैं गर्मियों में जल जीरा पीने के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ...



1) जल जीरा घटाए वजन :-
इसे दिन में दो बार पियें। इसे पीने से भूख कम लगती है जिससे आप अति से ज्‍यादा भोजन खाने से बच जाएंगे।
2) एसिडिटी दूर करे :-
अगर आपको एसिडिटी की समस्‍या है तो जलजीरा को धीरे धीरे पियें, जब तक कि एसिडिटी कम ना हो जाए।
3) कब्‍ज दूर करे :-
यह कब्‍ज की समस्‍या को दूर करता है। इसे दिन में दो बार पियें।
4) गैस दूर करे :-
इसे पीने से गैस दूर होती है। इसे तब तक धीरे धीरे पियें जब तक कि पेट की गैस पूरी तरह ना निकल जाए।
5) मतली रोके :-
यह उन गर्भवती महिलाओं के लिये अच्‍छा है, जिन्‍हें सुबह के समय उल्‍टी महसूस होती है। उन्‍हें इसका सेवन जरुर करना चाहिये।
6) पानी की कमी ना होने दे :-
यह शरीर में गर्मियों के मौसम में पानी की कमी नहीं होने देता।
7) मासिक धर्म के दर्द को रोके :-

लड़कियों में मासिक धर्म के समय तेज दर्द को होने से यह रोकता है। इसे दिन में कई बार पीने से पीड़ा से आराम मिलता है।

Khane Pine Ke Niyam खान पान के यह नियम आपको रखेगे सदा तंदरुस्त


खान पान के यह नियम आपको रखेगे सदा तंदरुस्त




सुबह उठते ही सबसे पहले हल्का गर्म पानी पिये !!
2 से 3 गिलास जरूर पिये !पानी हमेशा बैठ कर पिये !पानी हमेशा घूट घूट करके पिये !!<
घूट घूट कर इसलिए पीना है ! ताकि सुबह की जो मुंह की लार है इसमे ओषधिए गुण बहुत है ! ये लार पेट मे जानीचाहिए ! वो तभी संभव है जब आप पानी बिलकुल घूट घूट कर मुंह मे घूमा कर पिएंगे !

इसके बाद दूसरा काम पेट साफ करने का है ! रोज पानी पीकर सुबह शोचालय जरूर जाये !पेट का सही ढंग से साफ न होना 108 बीमारियो की जड़ है !

खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीना जहर पीने के बराबर है !हमेशा डेड घंटे बाद ही पानी पीएं !इसे भी पढ़ें – पानी से जुड़ी ये BAD HABITS उसे आपके लिए बना सकती हैं जहर |The Art of Drinking Water
खाना खाने के बाद अगर कुछ पी सकते हैं उसमे दो चीजे आती हैं !!1) जूस2) छाज (लस्सी)
सुबह खाने के बाद अगर कुछ पीना है तो हमेशा जूस पिये !दोपहर को दहीं खाये ! या छाज पिये !और दूध हमेशा रात को पिये वह भी भोजन के डेड घंटे बाद!!इन तीनों के क्रम को कभी उल्टा पुलटा न करे !!


इसके इलावा खाने के तेल मे भूल कर भी refine oil का प्रयोग मत करे !(वो चाहे किसी भी कंपनी का क्यू न हो कोभी हो सकता है !अभी के अभी घर से निकाल दें ! बहुत ही घातक है !सरसों के तेल का प्रयोग करे ! या देशी गाय के दूध का शुद्ध घी खाएं ! ! (शुद्ध सरसों के तेल की पहचान है मुंह पर लगाते ही एक दम जलेगा ! और खाना बनाते समय आंखो मे हल्की जलन होगी !
चीनी का प्रयोग तुरंत बंद कर दीजिये ! गुड खाना का प्रयोग करे ! या शक्कर खाये !! चीनी बहुत बीमारियो की जड़ ! slow poison है !इसे भी पढ़ें – भोजन के बाद छह खतरनाक आदतों से बचें
खाने बनाने मे हमेशा सेंधा नमक या काला नमक का ही प्रयोग करे !! आयोडिन युक्त नमक कभी न खाएं !!

सुबह नाश्ता न कर सीधा ९ से ११ बजे तक भोजन कर लीजिये ! इस दौरान जठर अग्नि सबसे तेज होती है ! सुबह का खाना हमेशा भर पेट खाएं ! सुबह के खाने मे पेट से ज्यादा मन संतुष्टि होना जरूरी है ! इसलिए अपनी मनपसंद वस्तु सुबह खाएं !!
खाना खाने के तुरंत बाद वज्रासन में १५ मिनट बैठे या १५ मिनट के लिए बायीं लेट जाएँ ! लेकिन इससे ज्यादानहीं !

रात का खाना सोने से २-३ घण्टे पहले खा ले, रात को खाना खाने के तुरंत बाद नहीं सोना ! रात को खाना खाने के बाद बाहर सैर करने जाएँ ! कम से कम 500 कदम सैर करे!
ब्रह्मचारी है (विवाह के बंधन मे नहीं बंधे ) तो हमेशा सिर पूर्व दिशा की और करके सोएँ ! ब्रह्मचारी नहीं है तो हमेशा सिर दक्षिण की तरफ करके सोएँ ! उत्तरऔर पश्चिम की तरफ कभी सिर मत करके सोएँ !
मैदे से बनी चीजे पीज़ा ,बर्गर ,hotdog,पूलड़ोग, आदि न खाएं ! ये सब मैदे को सड़ा कर बनती है !! कब्ज का बहुत बड़ा कारण है !!


इन सब नियमो का अगर पूरी ईमानदारी से प्रयोग करेंगे ! 1 से 2 महीने मे ऐसा लगेगा पूरी जिंदगी बदल गई है ! मोटापा है तो कम हो जाएगा ! hihgh BP,cholesterol,triglycerides,सब level पर आना शुरू हो जाएगा ! HDL बढ्ने लगेगा ! LDL ,VL DL कम होने लगेगा !! और भी बहुत से बदलाव आप देखेंगे !!

Monday, 31 July 2017

PYAJ KO KATE BINA AANSU BHAYE प्याज को बिना ठंडा किए भी काट सकते हैं प्याज, नहीं निकलेंगे आंसू

प्याज को बिना ठंडा किए भी काट सकते हैं प्याज, नहीं निकलेंगे आंसू


प्याज काटने समय अगर आंसू निकलते हैं तो इस स्लाइडशो में दिए गए तरीकों को आजमाएं।





सबको मालुम है कि प्याज काटने समय आंसू निकलते हैं। प्याज काटने समय आंसू नहीं निकले इसके लिए लोग प्याज को काटने के दस से बीस मिनट पहले उसे पानी में भिगो देते हैं या फ्रिज में रख दें। इससे प्याज काटने समय आंसू नहीं निकलते... ये भी सबको मालुम है।

 लेकिन जब प्याज तुरंत काटकर सब्जी बनानी है तब क्या करें...?

Wednesday, 26 July 2017

JOINTS PAIN KE LIYE घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द

घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द



  • आयुर्वेदिक पट्टी है आपके हर दर्द का इलाज
  • इस पट्टी को अपनाएं जोड़ों के दर्द से मुक्ति पाएं
  • आयुर्वेद इलाज है दर्द का बेस्ट इलाज





आयुर्वेद एस ऐसा इलाज है, जो आपकी हर परेशानी और समस्या को जड़ से खत्म करने में मदद करता है। हम में से कई लोग अपने घरों में आयुर्वेद को फर्स्ट एड बॉक्स मानते हैं। इसमें हर उस बीमारी को खत्म करने की शक्ति होती है, जो शायद कोई और में नहीं। बुखार हो या खांसी-जुकाम, बदन दर्द हो या पेट की कोई खराबी या फिर कोई अन्य सामान्य समस्या, आपके घर का ये केमिस्ट आपको हर दवाई मुहैया करवाता है। 

कई लोगों को एलोपैथी दवाई चुस्त-दुरुस्त कर देती है, तो कई लोग इनसे मिलने वाली सुस्ती से परेशान हो जाते हैं। कभी-कभार एलोपैथी दवाइयां अपना असर दिखाने में नाकामयाब भी रहती हैं। और बीमार व्यक्ति को और परेशान करती है। 


सिर्फ 1 बार खाएं ये आयुर्वेदिक चीजें, पेट हमेशा रहेगा दुरुस्‍त


वे लोग जिन्हें एलोपैथी ज्यादा भाती नहीं है या उन्हें राहत देने में अक्षम पड़ जाती है, ऐसे में वे आयुर्वेद के पास कुछ ऐसे नुस्खे हैं, जो आपको बहुत ही जल्द बीमारियों से छुटकारा दिलवा सकते हैं। इनमें से कुछ ऐसे भी हैं जिनका नियमित सेवन आपको बीमार होने ही नहीं देगा। तो चलिए जानते हैं आयुर्वेद के खजाने से निकले कुछ खास नुस्खे।


जोड़ों का दर्द और तेल लगी कच्ची रोटी


आजकल की जीवनशैली में लोगों का खानपान पूरी तरह बिगड़ चुका है, जिसकी वजह से अकसर लोगों को तरह-तरह की शिकायतें रहने लगी हैं। स्ट्रेस, बाहर का अनहेल्दी खाना, जंक फूड आदि पेट की विभिन्न बीमारियों को पैदा करता है। 
लेकिन हम आपको आप आयुर्वेद के एक ऐसे नुस्खे से रू-ब-रू कराने जा रहे हैं, जिसको करने से आप अपने जोड़ों के दर्द से निजात पा सकते हैं। यह एक ऐसा घरेलू नुस्खा है, जहां, आप केवल एक ही रात में ज्वॉइंट्स पैन से छुटकारा दिलाने में कारगर है। 


ब्रेस्‍ट मिल्‍क को तुरंत बढ़ता है ये आयुर्वेदिक नुस्‍खा


रात में 1 कच्ची रोटी लें, उस पर सरसों का तेल और हींग लगा लें। इसके बाद ये रोटी की पट्टी अपने शरीर के उन हिस्सों पर रखकर बांधें, जहां आपको जोड़ों का दर्द महसूस होता है। यकीन मानिए आपका जोड़ों का दर्द केवल 1 रात में ही गायब हो जाएगा। इसके अलावा आप अगर पेपर टेप पर थोड़ी-सी साबुत मेथी दाना लगाते हैं और उसे उस जगह पर शरीर पर चिपकाते हैं जहां आपको दर्द महसूस हो रहा है, उससे भी आपको लाभ मिलेगा। 
रोटी का घरेलू नुस्खा एक ऐसा नुस्खा है, जो आपके जोड़ों के दर्द में आपको राहत दिला सकता है। अगर आपको भी घुटने में या हाथ में दर्द हो, तो आप भी यह नुस्खा अपना सकते हैं। आज भी बड़े-बूढ़ें इस नुस्खे को दर्द भगाने में इस्तेमाल करते हैं। एक बार आप भी करके देख लीजिए। 



Thursday, 20 July 2017

EK AAKHROT ROJ KHAYE AUR GUTNE DARD SE RAHAT PAYE सिर्फ 1 अखरोट खाएं, घुटने के दर्द को दूर भगाएं

सिर्फ 1 अखरोट खाएं, घुटने के दर्द को दूर भगाएं




  • अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी से होता है दर्द।
  • रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नहीं कर पाते हैं।
  • एंटीऑक्‍सीडेंट के साथ ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर।






बहुत सारे लोगों को घुटने के दर्द की समस्‍या का सामना करना पड़ता है। बढ़ती उम्र के साथ ये समस्‍या और भी गंभीर हो जाती है। अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान है और बहुत सारे इलाज करवाने के बावजूद आपको कोई आराम नहीं‍ मिल रहा है तो परेशान न हो, क्‍योंकि हम आपके लिए एक ऐसा नुस्‍खा लेकर आये जिसे इस्‍तेमाल करने से आपके घुटने का दर्द छूमंतर हो जाएगा।


अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी और बढ़ते वजन के चलते घुटनों का दर्द भारत जैसे देशों में एक बड़ी समस्या का रूप लेता जा रहा है। पहले यह समस्‍या 40-45 की उम्र में हुआ करती थी, लेकिन आज यह समस्‍या कम उम्र में भी होने लगी है। घुटनों का दर्द काफी हद तक लाइफ स्‍टाइल की देन है। भारत में यह समस्या काफी गंभीर है। घुटनों के खराबी के शिकार 25 प्रतिशत लोग अपने रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नहीं कर पाते हैं।    



घुटनों का दर्द बहुत ही पीड़ादायक होता है और यह आपको चलने-फिरने में भी असमर्थ कर देता है। अधिक वजन और वृद्धावस्था के कारण घुटनों का दर्द और भी तकलीफ देह हो जाता है। यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि अखरोट जैसे घरेलू उपाय की मदद से घुटनों के दर्द की इस तकलीफ से छुटकारा पाया जा सकता है। आइए जानें घुटने के दर्द के लिए अखरोट कैसे काम करता है। 


अखरोट के फायदों के बारे में हम सभी जानते हैं अखरोट हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। अखरोट में प्रोटीन, फैट, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ई, बी6, कैल्शियम और मिनरल पर्याप्तं मात्रा में होते है। जो हमारी फिटनेस बरकरार रखते है और हमें कई गंभीर बीमारियों से भी बचाता है। अखरोट में एंटीऑक्‍सीडेंट के साथ-साथ ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। यह एक प्रकार का फैट है जो सूजन को कम करने में मदद करता है। साथ ही अर्थराइटिस के विकास के जोखिम को कम करने में मदद करता है।



अखरोट का सेवन कैसे करें
रोजाना सुबह खाली पेट एक अखरोट की गिरी अच्‍छे से चबा-चबाकर खाएं।
अगर यह उपाय रोजाना नहीं करते तो आपको कुछ फायदा नहीं मिलेगा।
रोज खाने से थोड़े ही दिनों में आपको असर दिखने लगेगा।
अगर आप भी घुटने के दर्द से परेशान हैं तो आज से ही अपनी दिनचर्या में अखरोट को शामिल करें। 

Wednesday, 19 July 2017

JUNK FOODS KE NUKSAN ये 5 फूड देते हैं गंजेपन को न्‍यौता


ये 5 फूड देते हैं गंजेपन को न्‍यौता


हमारे खान-पान के लिए तमाम चीजें बनी हैं, इनमें से कुछ फायदेमंद होती है तो वहीं कुछ के हानिकारक परिणाम मिलते हैं। कुछ फूड ऐसे होते हैं जिन्‍हें खाने का केवल स्‍वाद ही मिलता है जबकि उनमें पोषक पदार्थ काफी कम होते हैं। ऐसे फूड को ज्‍यादा खाने से ब्लड में बायोटिन की कमी होने लगती है और बालों की जड़ों में ब्लड सर्कुलेशन कम हो जाता है। इस कारण बालों का झड़ना शुरू हो जाता है और जब बाल अधिक झड़ जाते हैं तो व्‍यक्ति गंजेपन का शिकार हो जाता है। गंजेपन से मुक्‍त रहें इसलिए हम आपको 5 ऐसे फूड के बारे में बताने जा रहें है जिनका सेवन ज्‍यादा न करें...


जंक फूड

इसमें साल्‍ट, शुगर, ऑयल और फैट की मात्रा ज्‍यादा होती ह। इनसे सिर की स्किन के पोर्स बंद हो जाते हैं और बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। 




फ्रेंच फाइज

इसमें ज्‍यादा मात्रा में ऑयल और ट्रांस फैट्स होते हैं जो बालों को जड़ों तक पोषक तत्‍व नही पहुंचने देते हैं, इससे बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं।







केक एंड पेस्‍ट्री

इसमें शुगर लेवल अधिक होता है, जिससे हेयर फॉल को बढ़ाने वाले एंड्रोजन हार्मोन का लेवल बढ़ाता है।






Adarak Ke Benefits कई बीमारियों की दवा है अदरक

कई बीमारियों की दवा है अदरक आयरन, कैल्शियम, क्लो‍रीन व विटामिन से भरपूर। अदरक का रस पीने से दिल सम्बंधित बीमारियां नहीं होतीं। क...