Saturday, 9 July 2016

यहाँ तो इम्तहानों ने जिदंगी ले रखी है|

इतनी बदसलूकी ना कर ऐ जिदंगी,
हम कौन सा यहाँ बार बार आने वाले है,
सुना है जिदंगी इम्तहान लेती है,
यहाँ तो इम्तहानों ने जिदंगी ले रखी है|

No comments:

EK AAKHROT ROJ KHAYE AUR GUTNE DARD SE RAHAT PAYE सिर्फ 1 अखरोट खाएं, घुटने के दर्द को दूर भगाएं

सिर्फ 1 अखरोट खाएं, घुटने के दर्द को दूर भगाएं अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी से होता है दर्द। रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नह...