Thursday, 7 July 2016

ऐ सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन न हुआ.

उड़ रहा था मेरा दिल भी परिंदों की तरह,
तीर जब लग गई तो कोई भी मरहम न हुआ,
देख लेना था मुझे भी हर सितम की अदा,
ऐ सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन न हुआ.

No comments:

JOINTS PAIN KE LIYE घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द

घर पर तैयार की गई ये 1 आयुर्वेदिक पट्टी खींच लेगी आपका हर तरह का जोड़ों का दर्द आयुर्वेदिक पट्टी है आपके हर दर्द का इलाज इस पट्...