Google+ Followers

Friday, 14 April 2017

दो-चार नहीं मुझको...

दो-चार नहीं मुझको... 

बस एक दिखा दो, 


वो शख़्स जो बाहर से भी अन्दर की तरह हो।
Post a Comment